Press "Enter" to skip to content

Who is the CM Yogi Adityanath and the singer giving offensive statement to RSS chief?

Business

 हाल ही में बॉलीवुड की मशहूर सिंगर और रैपर हार्ड कौर की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं. उन्होंने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर अपने सोशल एकाउंट के जरिए आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इसके बाद हार्ड कौर पर देशद्रोह मानहानी और आइटी एक्ट के तहत गंभीर मामले दर्ज किए गए हैं. उन पर वाराणसी जिले के कैंट थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके अलावा हार्ड कौर के खिलाफ मुम्बई पुलिस में भी शिकायत की गई है. मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि अभी हार्ड कौर का ये मामला और भी तूल पकड़ सकता है.

Recently, the difficulties of Bollywood’s famous singer and rapper Hard Kaur are increasing. He had made objectionable comments on the UP Yogi Adityanath and RSS chief Mohan Bhagwat through his social account. Following this, Hard Kaur has been named as a treason against defamation and serious cases have been registered under the IT Act. They have been sued in Cantt police station of Varanasi district. Apart from this, a complaint has also been lodged against Hard Kaur in the Mumbai Police. It is being reported in media reports that this case of Hard Kaur can hold even more.

 हार्ड कौर को सोशल मीडिया पर भी काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. ये पहली बार नहीं है जब हार्ड कौर किसी कॉन्ट्रोवर्सी में फंसी हैं. इससे पहले भी हार्ड कई विवादों के चलते सुर्खियों में रह चुकी हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2015 में एक ईवेंट में हार्ड कौर नशे में ऐसी धुत हो गई थीं कि उन्होंने जमकर हंगामा मचाया था. इस हंगामे का वीडियो भी खूब वायरल हुआ था, जिसमें वो भद्दी-भद्दी गालियां देती दिखाई दी थीं.

Hard Kaur has also been facing considerable criticism on social media. This is not the first time when Hard Kaur is trapped in a controversy. Even before that, hard work has been in the headlines due to various disputes. According to media reports, in an event in 2015, Hard Kaur was so deeply intoxicated that she had furiously raged. The video of this tragedy had become very viral, in which he had appeared lustful and abusive.

 इसके अलावा कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया जा रहा है कि साल 2013 में हार्ड कौर, सिंगर हनी सिंह के साथ स्टेज पर रैप परफॉरमेंस देने पहुंची थीं. इसी दैरान उन्होंने सिख समुदाय के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. ऐसे में अगर कहें की हार्ड कौर और विवादों का पुराना नाता है तो गलत नहीं होगा.

Apart from this, it is also claimed in several media reports that Hard Kaur, Singer, Honey Singh, had come to deliver rap on stage with the stage in 2013. On this same day he also made objectionable remarks against the Sikh community. If this is the case of Hard Kaur and controversy, then it will not be wrong.

 हार्ड कौर का असली नाम तरन कौर ढिल्लन है. ये पंजाबी कुड़ी करियर के शुरुआती दौर से ही बोल्डनेस और बेबाकी के लिए जानी-जाती थीं. बात करें हार्ड कौर के करियर की तो उन्होंने अपनी आवाज और दमदार रैप से अलग पहचान बनाई है. हार्ड का जन्म 29 जुलाई 1979 को हुआ. उन्होंने रैप के साथ-साथ कई हिप हॉप सॉन्ग भी गाए हैं. बॉलीवुड में उनकी काफी अच्छी खासी पहचान भी है.

Hard Kaur’s real name is Taran Kaur Dhillon. These Punjabi girls were known for boldness and absurdity from the early stages of career. Talk about Hard Kaur’s career, she’s different from her voice and strong rap. Hard was born on July 29, 1979. He also sang many hip hop songs along with rap. He also has a very good identity in Bollywood.

 हार्ड कौर ने साल 2007 में सोलो एल्बम सूपावुमन रिलीज की थी. साल 2008 में ने बेस्ट फीमेल एक्टर का पुरस्कार भी हासिल किया था. साल 2012 में उन्होंने अपनी दूसरी एल्बम पार्टी लाउड ऑल ईयर रिलीज की थी. इस एलब्म का निर्देशन सोनी म्यूजिक के जरिये किया गया था. हार्ड कौर की एल्बम मुझे पीने दो को भी काफी सफलता मिली.

Hard Kaur released the solo album Soupavuman in 2007. In the year 2008 also won the Best Female Actor Award. In the year 2012, he released his second album, Party Loud All Year. This album was directed by Sony Music. Drink my hard album of Hard Kaur also got great success

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Disclaimer - OBN is an informational website which aims to give the latest blockchain related news to the readers. Articles on OBN should not be considered as investment advice. Trading cryptocurrencies is a high-risk investment, every user is advised to consult an expert before making any decisions.